सेना दिवस के बारे में ये जरूरी बातें जानते हैं आप?

सेना दिवस के बारे में ये जरूरी बातें जानते हैं आप?

15th January 2020 3 By Bhojpur Today

सेना दिवस जरूरी बातें

आज थल सेना दिवस है. फील्ड मार्शल केएम करियप्पा के सम्मान में हर साल 15 जनवरी को सेना दिवस मनाया जाता है. करियप्पा भारतीय सेना के पहले कमांडर-इन-चीफ थे,सेना दिवस जरूरी बातें जिन्होंने 15 जनवरी 1949 में सर फ्रैंसिस बुचर से प्रभार लिया था.

जनरल करियप्पा ने 1947 में भारत-पाक के बीच हुए युद्ध में भारतीय सेना की कमान संभाली थी. भारत ने इस युद्ध में पाकिस्‍तान को धूल चटा दी थी. सेना दिवस के अवसर पर पूरा देश थल सेना की वीरता, अदम्य साहस, शौर्य और उसकी कुर्बानी को याद करता है.

आज सुबह चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत के साथ तीनों सेनाओं के प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे, एयरचीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया और नौसेना प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंह ने राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पहुंचकर शहीदों को श्रद्धांजलि दी.

आर्मी प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे ने थलसेना के सभी सैनिकों, परिवारों, भारतीय सशस्त्र बल, भूतपूर्व सैनिकों, वीर नारियों को सेना दिवस की शुभकामनाएं दी हैं. उन्होंने सभी को सफलता, यश और गौरव की शुभकामनाएं भी दी.

रेलवे के मोहल्लों से पानी की बर्बादी से रोकने को लगेंगे स्विच जमशेदपुर

1.सेना दिवस क्यों मनाया जाता है?
दरअसल साल 1949 में आज ही के दिन भारत के अंतिम ब्रिटिश कमांडर-इन-चीफ जनरल फ्रांसिस बुचर के स्थान पर तत्कालीन लेफ्टिनेंट जनरल के एम करियप्पा भारतीय सेना के कमांडर इन चीफ बने थे.

इस उपलक्ष्य में इस दिन को सेना दिवस घोषित किया गया. जनरल करियप्पा बाद में फील्ड मार्शल भी बने. भारतीय सेना का गठन 1776 में ईस्ट इंडिया कंपनी ने कोलकाता में किया था.

2. सेना दिवस किस तरह मनाया जाता है?
दिल्ली में सेना कमान मुख्यालय के साथ-साथ देश के अन्य हिस्सों में सैन्य परेड और शक्ति प्रदर्शन के अन्य कार्यक्रमों का आयोजन करके सेना दिवस मनाया जाता है.

सेना दिवस के मौके पर सेना के कई दस्ते और रेजिमेंट परेड में हिस्सा लेते हैं. इसके साथ कई झांकियां भी निकाली जाती हैं. सेना दिवस को हर जगह बहुत धूमधाम के साथ मनाया जाता है. दिल्ली कैंट में आम तौर पर आर्मी चीफ परेड में हिस्सा लेते हैं और सेना के जवानों और अधिकारियों को सम्मानित करते हैं.

72वें सेना दिवस के अवसर पर आज दिल्ली में भव्य परेड का आयोजन किया गया, जिसकी सलामी पहली बार चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत ने ली. इस अवसर पर शौर्य और बहादुरी का प्रदर्शन करने वाले जवानों को मेडल से नवाजा गया. थलसेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे ने परेड का निरीक्षण भी किया.

3. आर्मी दिवस 2020 में खास क्या है?
इस साल सेना दिवस के मौके पर सिग्नल कॉर्प्स की कैप्टन तानिया शेरगिल परेड का नेतृत्व कर रही हैं. सेना दिवस के परेड में इस बार धनुष जैसे गन का भी प्रदर्शन किया जा रहा है. इस परेड में 18 टुकड़ी हिस्सा ले रही हैं जो दर्शकों के सामने अपने शौर्य का प्रदर्शन कर रही हैं.

जनरल करियप्पा परेड ग्राउंड में बहुत से जवानों को आज सम्मानित भी किया गया है.

29 मार्च तक बंद रहेगी भोपाल-हैदराबाद-बेंगलुरू फ्लाइट,10% किराया बढ़ेगा